न्यूजीलैंड के मस्जिद में आत्मघाती हमला 40 लोगों की मौत में 6 भारतीय भी शामिल

न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च के दो मस्जिदों में भीषण हमला हुआ है इसमें 49 लोगों की मौत की खबर सामने आ रही है जबकि 40 जख्मी बताए जा रहे हैं। ढ़ेर सारे हथियार और विस्फोटक लेकर आतंकी घुसे और गोलियां बरसाने लगे। हमलावर हेलमेट पहनकर मस्जिद में दाखिल हुआ और दनादन नमाजियों पर गोलियों की बौछार कर दी। इस आत्मघाती हमले में भारतीय मूल के लोगों के भी मारे जाने की संभावना जताई जा रही है। न्यूजीलैंड में भारतीय उच्चायुक्त संजीव कोहली के अनुसार शुरुआती सूचनाओं के अनुसार छह भारतीय इस घटना में मारे गए हैं। हालांकि इसकी अभी आधिकारिक पुष्टि होना बांकी है। उन्होंने बताया कि कई लोगों के हेल्पलाइन नंबर पर फोन कॉल आ रहे हैं। मारे गए 6 लोगों में दो हैदराबाद, एक गुजरात और एक पुणे का बताया जा रहा है। क्राइस्ट चर्च में लगभग 30 हजार भारतीय मूल के लोग रह रहे हैं। इस घटना में 20 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं। न्यूजीलैंड के प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डन ने इसे आतंकवादी हमला की संज्ञा दी है और इसे देश के इतिहास का सबसे काला दिन बताया। घटना के बाद अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया लोग इधर-उधर भागने लगे। सभी जान बचाने की कोशिश करने लगे। किसी को कुछ पता नहीं चल पाया कि आखिर यह हो क्या रहा है? इस घटना के बाद न्यूजीलैंड की राजधानी वेलिंगटन में धार्मिक स्थानों खासकर मस्जिदों के नजदीक की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। देश में सभी जगहों पर पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है। मूल रूप से मुंबई के रहने वाले थॉमस शाह जी क्राइस्टचर्च में एक रेस्त्रां बीकानेरवाला चलाते हैं। जिल अल नूर और लिनवुड मस्जिदों पर हमला हुआ। हर शुक्रवार के रोज जुमे की नमाज के लिए मस्जिद में लगभग 300 से 400 लोग इकट्ठा होते हैं। बताया जा रहा है कि नमाज खत्म होने के बाद कई लोग घर चले गए थे। वरना एक बड़ा हादसा हो सकता था। इस हमले के लिए 28 साल के एक युवक ब्रेंटन टैरेंट को जिम्मेदार बताया जा रहा है। मूलरूप से ब्रिटिश मूल का है हमलावर। पुलिस ने 4 संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया है। इस घटना में बांग्लादेश क्रिकेट टीम के खिलाड़ी बाल – बाल बच गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 + 6 =