प. बंगाल में बहा बीजेपी कार्यकर्ताओं का खून अगले चुनावों में रंग लाएगा- शाह

PTI12_5_2018_000035B

NRC पर जनजागरण नाम के कार्यक्रम में भाग लेने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) प. बंगाल पहुंचे हुए हैं. उन्होंने इस अवसर पर अपने संबोधन की शुरुआत प. बंगाल की जनता को भारतीय जनता पार्टी (BJP) को 300 सीटों के आंकड़ों के पार ले जाने के लिए धन्यवाद देते हुए की.

Share this:

कोलकाता. NRC पर जनजागरण नाम के कार्यक्रम में भाग लेने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री (Minister of Home Affairs) अमित शाह (Amit Shah) प. बंगाल पहुंचे हुए हैं. उन्होंने इस अवसर पर अपने संबोधन की शुरुआत प. बंगाल (West Bengal) की जनता को भारतीय जनता पार्टी (BJP) को 300 सीटों के आंकड़ों के पार ले जाने के लिए धन्यवाद देते हुए की.इसके साथ ही उन्होंने प. बंगाल  (West Bengal) में भी अगले साल बीजेपी (BJP) की सरकार बनने की आशा जताई.आने वाले चुनावों में रंग लाएगा बीजेपी कार्यकर्ताओं का खूनकेंद्रीय गृह मंत्री ने प. बंगाल में होने वाली बीजेपी कार्यकर्ताओं (BJP Workers) की हत्या पर भी खेद जताया और कहा कि आने वाले चुनावों में इन कार्यकर्ताओं का खून रंग लाएगा.गैर मुस्लिम शरणार्थियों को दिया नागरिकता का आश्वासनNRC के अलावा उन्होने सिटिजनशिप अमेंडमेंट बिल (citizenship amendment bill 2019) की भी चर्चा की और नरेन्द्र मोदी सरकार के सभी गैर मुस्लिम शरणार्थियों को भारत की नागरिकता देने के फैसले की सराहना की. हालांकि उन्होंने इस बिल को पारित न होने देने के लिए तृणमूल कांग्रेस के सांसदों की आलोचना भी की.इस मसले पर उन्होंने कहा, “सभी शरणार्थी भाईयों को आश्वस्त करने आया हूं क्योंकि उनकी संख्या बहुत बड़ी है. मैं आज कहना चाहता हूं कि भाजपा की सरकार सिटिजनशिप एमेंडमेंट बिल लेकर आने वाली है. सिख हिंदू ईसाई शरणार्थियों को भारत की नागरिकता दी जाएगी. नरेंद्र मोदी सरकार सिटिजनशिप बिल लेकर आने वाली है मेरे जैसा अधिकार आपको भी मिलने वाला है. एक-एक जनता को प्रधानमंत्री बनने और मतदान करने जैसे सभी अधिकार मिलेंगे.”Loading… देश भर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद किए गए कार्यक्रमशाह ने कहा अनुच्छेद 370 हटाने के बाद देश भर में 370 कार्यक्रम तय किए गए थे उन नियत 370 स्थानों में 350 कार्यक्रम सफलता पूर्वक संपन्न हुए हैं.

उन्होंने कहा कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने से देश भर में एक राष्ट्रव्यापी राष्ट्रीयता के भाव का उदय हुआ है. पहले ममता दीदी शरणार्थियों का विरोध करती थीं अब वह उनका वोट बैंक बन गए हैं तो विरोध नहीं करती हैं. देश की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए हमें ये करना होगा, नहीं किया तो दूर तक इसका परिणाम भुगतना होगा.ममता बनर्जी पर लगाया बंगाल की विरासत को खत्म करने का आरोपउन्होंने बंगाल के पुरातन वैभव की भी तारीफ की और यहां की साहित्यिक विरासत को सराहा. रामकृष्ण परमहंस, विवेकानंद, चैतन्य महाप्रभु की धरती से सब चीजें कहां गई? उन्होंने सवाल किया कि हमने कम्युनिस्टों को किसलिए बंगाल की धरती से हटाया था. उन्होंने इन सारी परंपराओं को खत्म करने के लिए ममता बैनर्जी की आलोचना की. उन्होंने कहा कि बंगाल के व्यापार का हिस्सा आजादी के वक्त 27% था जो अब 3% हो चुका है. इसके अलावा उन्होंने अन्य तमाम आंकड़ों को पेश करते हुए ममता बैनर्जी सरकार की आलोचना की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen − 14 =